बेताबी चुदाई की

भाभी मुझसे कहती है कि राधिका तुम जाकर फ्रिज से पानी ले आना मैंने भाभी को कहा ठीक है भाभी अभी पानी ले आती हूं। मैं पानी ले आई और हम दोनों साथ में बैठे हुए थे भाभी और मेरे बीच में बहुत अच्छा प्रेम है हम दोनों की बहुत अच्छी बनती है। kamuk kahaniya

भाभी मुझसे कहने लगी कि राधिका तुम्हारे एग्जाम कैसे हो रहे हैं मैं भाभी को कहा भाभी मेरे एग्जाम तो अच्छे हो रहे हैं भाभी कहने लगी कि लगता है इस वर्ष भी तुम टॉप करने वाली हो।

antarvasnasexkahani.net par kamuk kahaniya aur antarvasna sex kahaniमैंने भाभी को कहा भाभी यह तो समय ही बताएगा अब मैं इसमें क्या बोल सकती हूं वैसे कोशिश तो मैं पूरी कर रही हूं कि मेरे अच्छे नंबर आ जाएं अब देखते हैं कि मेरी कोशिश कितना रंग लाती है।

Kamuk Sex Kahaniya > दुख में यौवन का सहारा

भाभी और मैं आपस में बात कर रहे थे तभी मां भी आ गई और कहने लगी कि आज तुम दोनों क्या बात कर रहे हो मैंने कहा कुछ नहीं मां बस भाभी और मैं आपस में बात कर रहे थे वह मेरे एग्जाम के बारे में पूछ रही थी।

मां कहने लगी कि बेटा मैं तो तुमसे पूछना ही भूल गई कि तुम्हारे एग्जाम कैसे चल रहे हैं मैंने मां को कहा मां मेरे एग्जाम तो ठीक हुए हैं। मैंने मां को कहा मां पापा कब आने वाले हैं तो वह कहने लगी कि पापा तो बेटा शाम के वक्त ही लौटेंगे क्यों तुम्हें क्या पापा से कोई जरूरी काम था।

मैंने मां से कहा हां मां मुझे पापा से जरूरी काम था मां मुझे कहने लगी कि तुम मुझे भी बता सकती हो मैंने मां को कहा मां मैं यह कहना चाहती हूं कि मुझे कुछ पैसों की आवश्यकता थी।

Kamuk Sex Kahaniya > तुम्हारे बिना नहीं रह सकती

वैसे तो मैं घर से कम पैसे लिया करती थी क्योंकि पापा मुझे बिना बोले ही पैसे दे दिया करते थे और कभी कबार भैया भी मुझे पैसे दे देते थे। जब मैंने मां को यह बात कही तो मां कहने लगी कि ठीक है बेटा मैं तुम्हारे पापा से इस बारे में बात करती हूं जब वह आ जाएंगे तो मैं उनसे कह दूंगी।

जब शाम के वक्त पापा आए तो पापा ने मुझे कुछ पैसे दे दिए पापा ने मुझसे यह भी नहीं पूछा कि मुझे किस लिए पैसों की जरूरत है पापा मुझसे बहुत कम ही पूछा करते थे कि तुम्हें किस लिए पैसों की जरूरत है।

अगले दिन मेरा एग्जाम था और मैं एग्जाम देकर अपनी सहेली पूजा के साथ शॉपिंग करने के लिए चली गई मैं काफी समय से अपने लिए कुछ खरीद नहीं पाई थी तो मैंने पूजा को कहा यदि तुम्हारे पास समय है तो हम लोग शॉपिंग कर आते हैं।

Kamuk Sex Kahaniya > मजा तो मुझे भी आ गया

हम लोग लोकल मार्केट में शॉपिंग करने के लिए चले गए वहां शॉपिंग के दौरान मेरा पर्स किसी ने चोरी कर लिया जैसे ही मेरा पर्स चोरी हुआ तो मैं उस लड़के के पीछे भागी लेकिन तब तक वह काफी आगे जा चुका था।

मैं बहुत ज्यादा उदास हो गई मैं सोचने लगी कि उसमें तो मेरे जरूरी डॉक्यूमेंट भी थे मैं बहुत उदास हो गई तो पूजा मुझे कहने लगी कि राधिका तुम चिंता मत करो हम लोग अभी पुलिस स्टेशन में जाकर कंप्लेंट करवा देते हैं।

हम लोग जब वहां से थोड़ा सा आगे निकले तो तभी मुझे किसी ने आवाज दी मैंने पीछे पलट कर देखा तो एक लड़का खड़ा था उसके हाथ में मेरा पर्स था उसने मुझे पर्स देते हुए कहा कि मैडम जी ये लीजिये आपका पर्स।

मैंने उससे कहा मैं आपका धन्यवाद कैसे कहूं तो वह लड़का मुझे कहने लगा कि आप को मेरा धन्यवाद कहने की कोई जरूरत नहीं है। मैंने उसे कहा मैं तो बहुत ज्यादा घबरा गई थी और मैं सोचने लगी थी कि कैसे मेरा पर्स मुझे वापस मिलेगा लेकिन आप की बदौलत मेरा पर्स मुझे वापस मिल गया उसके लिए मैं आपकी बहुत शुक्रगुजार हूं।

Kamuk Sex Kahaniya > क्या तुम फ्री हो?

वह लड़का मुझे कहने लगा कि कोई बात नहीं यह तो मेरा फर्ज था, मैंने उसने उस लड़के का नाम तक नहीं पूछा मैं और पूजा घर चले गए काफी दिनों बाद मुझे वह लड़का दोबारा से दिखाई दिया।

जब वह मुझे दोबारा मिला तो मैंने उसे कहा कि उस दिन तो मैं आपसे आपका नाम भी पूछना भूल गई थी वह लड़का मेरी तरफ मुस्कुरा कर देखने लगा और कहने लगा कि मैडम कोई बात नहीं उसने मुझे अपना नाम बता दिया उसका नाम अजय है।

अजय मुझे कहने लगा कि आप क्या करती हैं तो मैंने उसे बताया कि यह मेरे कॉलेज का आखरी वर्ष है और मैं अपना एग्जाम देकर कॉलेज से लौट रही थी तो मैंने सोचा कि कुछ शॉपिंग कर लूं लेकिन उसी दौरान पीछे से एक लड़का बड़ी तेजी से आया और मेरा पर्स चोरी करके भागा।

अजय से उस दिन के बाद तो मेरी मुलाकात काफी समय बाद हुई लेकिन जब अजय मुझे मिला तो मुझे उसके साथ बात करना अच्छा लगा अजय और मैं जब एक दूसरे से बात करते तो मुझे बहुत खुशी होती थी।

Kamuk Sex Kahaniya > ना चाहते हुए भी चूत मारता रहा

धीरे-धीरे हम दोनों की बातें फोन पर होने लगी मेरे एग्जाम खत्म हो चुके थे और अब मैं घर पर ही थी।

Leave a Comment