भाभी को दिखाई नई ब्लू फिल्म

हाय दोस्तों ये मेरी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट ऑर्ग पर पहली कहानी है। में इस वेबसाइट पर कहानियां बहुत दिनों से पढ़ रहा हूँ। तो मैंने सोचा कि मुझे भी अपनी कहानी भेजनी चाहिए। ये मेरी पहली कहानी है कोई गलती हो तो मुझे माफ़ करना। antarvasna2

अब में आप को अपना परिचय देता हूँ। मेरा नाम है सोनू ( बदला हुआ नाम) में BSC कर रहा हूँ और मेरी उम्र 19 है। किसी भी लड़की को संतुष्ट कर सके उतनी मेरे लण्ड की लम्बाई है। मेरे घर के सामने एक विवाहित पति-पत्नी रहते थे।

Antarvasna2 sex stories > मुझे शॉपिंग करवा दो

में उनको भैया भाभी बोलता था। भाभी बहुत ही सेक्सी टाइप की थी। उनकी गांड बहुत ही गोल और मोटी थी और उनके बूब्स का आकार ज्यादा बड़ा नहीं पर बहुत कामुक था। में तो बस उनकी गांड और चूत का दीवाना था।

बात उन दिनों की है जब में 12वीं कक्षा में पढता था। भैया हमेशा काम के सिलसिले में बाहर रहते थे और भाभी घर पर अकेली रहती थी। वो मुझे कुछ ना कुछ सामान लाने के लिए हमेशा बुलाती रहती थी। तो में उनके ही घर पर ज्यादा रहता था। एक दिन मैंने उनसे पूछा कि..

में : क्या में आप के घर पर एक ब्लू फिल्म देख सकता हूँ?

तभी भाभी चोंक गई और कुछ देर बाद मुस्कुराने कहने लगी और बोली..

भाभी : ठीक है जब तुम्हारे भैया चले जायंगे तब तुम देख सकते हो और साथ में मेरा काम भी करते रहना।

में : ठीक है।

Antarvasna2 sex stories > दुख में यौवन का सहारा

फिर में घर जाकर भाभी की चुदाई के सपने देखने लगा और मैंने 3 बार मुठ मारी और अपने आप को शांत किया।

कल फिर जब भैया चले गए तब में भाभी के घर गया ब्लू फिल्म की सीडी ले कर। वो सीडी मैंने अपने दोस्त से मंगवाई थी। जब में गया तब भाभी कपड़ो को अलमारी में रख रही थी।

में : भाभी में लेकर आ गया ब्लू फिल्म की सीडी ।

भाभी : मेरे पास भी थी। तुम मुझे ही बोल देते में दे देती।

में : चलो कोई बात नहीं ये नई वाली फिल्म है। आप ने नहीं देखी होगी। आज आप इसको देखो।

भाभी : ठीक है।

दोस्तों ये कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स कहानी डॉट नेट पर पड़ रहे है।

Antarvasna2 sex stories > ना चाहते हुए भी चूत मारता रहा

मैंने सीडी डीवीडी में डाल कर चला दी। भाभी ने थोड़ी देर फिल्म देखी । और बोली..

भाभी : मुझे नींद आ रही है में सो रही हूँ।

में : ठीक है ।

भाभी : जब तुम जाओ तो मुझे उठा देना।

फिर भाभी सो गई और थोड़ी देर बाद मुझे सेक्स का नशा चढ़ने लगा और मैंने भाभी के कान में बोला कि ‘भाभी क्या में आपको चोद सकता हूँ।’ शायद भाभी सो नहीं रही थी तो उन्होंने बोला ‘जो करना है वो कर ले’ और वो सीधी होकर सो गई और सबसे पहले मैंने उनके होंठो को चूमना शुरू कर दिया और उन्होंने भी मेरा साथ दिया। मैंने उनके बूब्स दबाने शुरू कर दिए और उनकी सिसकियाँ निकलनी शुरू हो गई।

भाभी : आआहह्ह्ह्ह्ह्हाआआह्ह्ह्ह्ह्ह ऒर तेतेतेज्ज्ज

में : हां भाभी आज आप को में जमकर चोदूंगा।

Antarvasna2 sex stories > मजा तो मुझे भी आ गया

भाभी : आई लव यू सोनू.. मुझे जम कर चोदना में बहुत दिनों से प्यासी हूँ।

में : हां रंडी साली तुझे तो आज में अपनी गुलाम बनाउंगा।

भाभी : में आज से तेरी गुलाम हूँ। तू जब कहेगा में तब चुदने के लिए तैयार हूँ।

फिर भाभी मुझे बुरी तरह से चूमने लगी और में भी उनको चूमता रहा। 10-15 मिनट में उनकी चूत को चूसने लगा और वो तेज तेज सिसकियाँ लेने लगी। में उनकी चूत को चूसता ही जा रहा था। और वो बोल रही थी कि मादरचोद चूस साले आज इसको पूरा खा जा.. बहुत दिनों से परेशान कर रखा है इसने और ये बोलते बोलते उन्होंने मेरा सर अपनी चूत पर दबा दिया और तेज आवाज के साथ झड़ गई। फिर उन्होंने मुझे अपने पास बुलाया और मेरे होटों को चूम लिया और बोली..

भाभी : आज पहली बार किसी ने मेरी चूत को इतनी अच्छी तरह से चूसा है।

में : क्यों ? भैया नहीं चाटते थे?

Antarvasna2 sex stories > क्या तुम फ्री हो?

Leave a Comment